People engaged in essential services in Delhi can call 1031, can avail e-pass on WhatsApp as soon as possible


  • E-pass not required for the general public, people can go for the purchase of essential items: CM Arvind Kejriwal
  • Landlords threatening doctors and nurses to evacuate will not be tolerated, strict action will be taken against such people: CM Arvind Kejriwal
  • As a duty to society, please ensure no one in your colony or street goes hungry: CM Arvind Kejriwal

OFFICE OF THE CHIEF MINISTER
GOVT OF NCT OF DELHI
PRESS RELEASE

Delhi is prepared to ensure the supply of essential goods to its residents during the 21-day “total lockdown” ordered by Hon’ble Prime Minister Mr. Narendra Modi to stop the spread of the COVID-19 virus in the country, Hon’ble Delhi Chief Minister Mr. Arvind Kejriwal said today. He also urged people, once again, to respect the lockdown and stay inside their homes during this period. Addressing a press conference CM Arvind Kejriwal said that his government will do their best to make sure nobody goes hungry. To ensure a smooth supply of essential services, Mr. Kejriwal announced a helpline number 1031, using which persons can apply for e-passes.

CM Arvind Kejriwal said that in the last 24 hours, 5 new cases have come up in Delhi, out of which one case is foreign and 4 cases are via local transmission. This has totaled the number of cases to 35.

CM Arvind Kejriwal said, “We are here to serve you. Please do not engage in panic buying. It is our responsibility to provide you with all the essential supplies such as vegetables, milk, and medicines. Those who are providing essential services to the people, general store owners, water and electricity department employees, government employees, government hospital doctors, vegetable vendors, will be issued passes by the government. The employees belonging to government services such as hospitals will already have their identity cards. We will issue e-passes to people engaged in manufacturers, transport, and storage of essential items, as well as the people who work in private or government essential services. Also, people engaged in the supply and distribution of five basic essential items like milk, vegetables, ration shops, chemists and pharmacists. The helpline number for this is 1031. You can call the helpline number, intimate the authorities regarding the essential services you are engaged in, and you will be issued the e-pass.”

“1031 is not a general helpline number, please do not make generalized calls on the number. I want to appeal to people to only use the helpline number if they are engaged in providing essential services and want an e-pass to be issued in their name. On the other hand, citizens do not need to have any pass for going to their nearby ration shops, general stores, or chemists for purchasing essential items,” he added.

CM Arvind Kejriwal also warned landlords of strict action if they force doctors and nurses to vacate their premises under fear of infection. He said, “I also heard that some landlords are forcing doctors and nurses to vacate their spaces, under the belief that these doctors or nurses may have been infected while treating the patients. This will not be tolerated. We will take care of our doctors if something is to happen for them, we are there for them. The whole country should thank all the doctors and nurses, they are the only ones who can save our lives. We have issued orders in this regard and strict actions will be taken on behalf of the Delhi Police against landlords engaging in such unlawful activities.”

CM Arvind Kejriwal also said that his government has increased the number of spots across the city where free food for the poor will be made available. “We have arranged for food for poor in our night shelters, free ration for 72 lakh beneficiaries, increased pension rates under widow, elderly and physically disabled schemes. However, there are a lot of people who fall outside the ambit of many schemes. We also know that people are more in number. We are increasing the number of spots where free food has been provided,” he said.

CM Arvind Kejriwal had also addressed a joint press conference with Delhi Lieutenant Governor Anil Baijal earlier in the day. Hon’ble LG Mr. Baijal said, “In the apex committee meeting of the group which has been meeting every day in the wake of COVID-19, we congratulated the Hon’ble Prime Minister for the bold and decisive, but unavoidable initiative. Given the situation we are in, the lockdown was the only answer. How to implement this lockdown without adversely impacting people and meeting their needs, was discussed in detail.”

He added, “We felt that we should implement the instructions given in the notification of the government of India, as effectively as possible. We are also going to issue instructions from the office of State-level Disaster Management Committee accordingly, for the benefit of users and suppliers of the services. While we would ensure effective implementation, we also felt that we want minimum inconvenience for the public, particularly to the lower strata of the society. We would ensure that the essential services are maintained during the lockdown. Details have been worked out on how we will go about it. Nodal officers and officers have been appointed for this. We would like to deliver the services either telephonically or online.”

Followed by the Hon’ble LG, Hon’ble Delhi CM Mr. Arvind Kejriwal said, “The Hon’ble Prime Minister has announced a complete nation-wide lockdown yesterday, which was an essential step towards ensuring the welfare and good health of the people of the country. We have to ensure two things, the first is to avoid getting out of our houses, and second, only getting out of our houses for acquiring basic essential items.”

He added that in the context of Delhi, the Central government, Hon’ble Lieutenant Governor, the Delhi government, and the Delhi Police are working in unison to ensure the safety and security of the people, along with working on providing essential supplies for sustenance. “We hope that all of you will support us in this endeavor,” he said.

Mr. Kejriwal said, “We observed that after the announcement of the lockdown by the Hon’ble Prime Minister, there were long queues of people outside general stores. If we continue to crowd places this way, the whole purpose of the lockdown will be defeated and the local transmission will not be contained.”

He said that the Police Commissioner of Delhi has issued an official helpline number 011-23469536, which can be contacted in case of any police-related problems.

“We have taken all efforts possible to ensure that nobody during this 21-day lockdown sleeps hungry. We are doing our best to provide convenience to you. There will be hindrances, but we are here to do our best,” said the CM.

CM Arvind Kejriwal reiterated that it is important for the people to support the government in their actions. “Please be responsible, ensure no one in your colony or street goes hungry. This is our duty to society and a true act of patriotism,” he said.


दिल्ली में जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग 1031 पर काॅल कर ई-पास ले सकते हैं, पास जल्द से जल्द वाट्सएप पर मिलेगा- अरविंद केजरीवाल

  • आम जनता को पास की जरूरत नहीं, घर के पास स्थित दुकान पर पैदल जाकर खरीदारी करने की अनुमति है- अरविंद केजरीवाल
  • मकान मालिक किराएदार डाॅक्टर और नर्सों को निकालने की धमकी दे रहे हैं, यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी- अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली, 25 मार्च, 2020

दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर प्रधामंत्री द्वारा 21 दिन के लिए घोषित देश व्यापी लाॅक डाउन के दौरान दिल्ली निवासियों को जरूरी सेवाएं प्राप्त करने में किसी तरह की परेशानी नहीं आने देने का आश्वासन दिया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों की सुविधा के लिए ई-पास जारी करने का एलान किया है। इसके लिए दिल्ली सरकार ने हेल्प लाइन नंबर 1031 जारी किया है। मुख्यमंत्री ने सिर्फ जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को ही इस नंबर पर काॅल करने की अपील की है। उन्हें वाट्सएप पर ई-पास भेजा जाएगा। वहीं, जरूरी सामान खरीदने वाली आम जनता को पास की जरूरत नहीं है। आम जनता को अपने पास की दुकान से पैदल जाकर सामान खरीद की अनुमति है। मुख्यमंत्री ने डाॅक्टर और नर्सों को घर से बाहर निकालने की धमकी देने वाले मकान मालिकों पर सख्त कार्रवाई करने का आदेश जारी किया है। साथ ही इस विपदा में लोगों से एक-दूसरे की मदद करते रहने की अपील की है।

दिल्ली में कोरोना के 5 नए केस आए, इसे बढ़ने से रोकना होगा- अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि कल से पूरे देश में लाॅक डाउन का ऐलान हुआ है और जिस तरह से पूरी दुनिया के अंदर करोना फैल रहा है। उसको देखते हुए लाॅक डाउन का यह निर्णय बहुत जरूरी था। अगर हम लाॅक डाउन नहीं करते और अगर महामारी बुरी तरह से पूरे देश में फैल जाती है तो ज्यादा तकलीफ होगी। अभी भी हम देख रहे हैं कि किस तरह से देश भर में कोरोना के केस बढ़ते जा रहे हैं। उनको रोकने की जरूरत है। पिछले 24 घंटे में दिल्ली में पांच नए केस आए हैं। जिसमें एक केस विदेश से आए व्यक्ति का है और 4 केस उनके आसपास के परिवार के लोगों में संक्रमित के हैं। अब दिल्ली में कुल 35 केस हो गए हैं। अब हमें इसे किसी भी तरह से बढ़ने नहीं देना है। यह बेहद जरूरी हो गया है।

लाॅक डाउन का पूरी तरह से करें पालन- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस लाॅक डाउन में एक तरफ सभी लोगों को अपने घर में रहना है और दूसरी तरफ सरकार की जिम्मेदारी है कि जिंदा रहने के लिए जो जरूरी चीजें हैं, वह आप को आसनी से मुहैया होती रहे और आप को किसी तरह की तकलीफ नहीं आए। मैं आप लोगों से हाथ जोड़ कर विनती कर रहा हूं कि प्रधानमंत्री जी के लाॅक डाउन के एलान का सभी लोग पूरी तरह से पालन करें। सभी लोग घर से बाहर न निकलें। केवल सब्जी व दूध आदि खरीदने के लिए अपने पड़ोस की दुकान तक ही जाएं। अन्यथा घर से बाहर कोई भी न निकले। दिल्ली सरकार ने आवश्यक सेवाओं को जारी रखने के लिए लोगों को पास देने की व्यवस्था की है। बिजली, पानी समेत सरकारी सेवाओं के कर्मचारी के पास अपने-अपने पहचान पत्र होंगे। इन लोगों से रास्ते में पुलिस पहचान पत्र मांगती है और ये लोग दिखा देते हैं, तो उन्हें जाने की अनुमति दे दी जाएगी। प्राइवेट अस्पताल के कर्मचारियों के भी अपने पहचान पत्र होंगे। यह भी मान्य होंगे। मीडिया कर्मियों के पास भी आईडी होंगे, वह भी मान्य होंगे।

जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को ई-पास दिया जाएगा- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जिन लोगों के पास पहचान पत्र नहीं है। चाहे वह सरकारी विभाग में काम करते हों या प्राइवेट अस्पतालों में काम करते हों, दूध व सब्जी बेचने, मंडी में काम वाले, मंडी में सब्जी ले जाने वाले किसान, दवाइयों की दुकान वाले और दवाइयों को बनाने वाले आदि हैं। मोटे तौर पर दूध, सब्जी, राशन की दुकान, रोजमर्रा की जरूरतों और दवाइयों की दुकान, इन पांच चीजों से संबंधित दुकानें, ट्रांसपोर्ट करने की व्यवस्था, इनके उत्पादन और स्टोर करने की व्यवस्थाएं, सभी अवश्यक सेवाओं की श्रेणी में आएंगी। हम चाहते हैं कि यह सारी आवश्यक सेवाएं सुचारू रूप से चलती रहे। इसके लिए इन सभी लोगों को पास की जरूरत है। इन आवश्यक सेवाओं के उत्पादन, ट्रांसपोर्टेशन, स्टोरेज और दुकानों में लगे सभी लोगों को हम पास जारी करेंगे। जिन लोगों के पास आईडी है, वह अपना आईडी इस्तेमाल करें। जिन के पास अपनी आईडी नहीं है, उनको हम ई-पास देने की व्यवस्था शुरू कर रहे हैं। दिल्ली सरकार ने इसके लिए एक हेल्प लाइन नंबर 1031 जारी किया है। 1031 पर आप फोन बताएंगे कि आप क्या सेवा देते हैं और आप को बता दिया जाएगा कि ई-पास कैसे मिलेगा। हम आपको जल्द से जल्द ई-पास मुहैया कराने की कोशिश करेंगे। ताकि आप अपना काम सुचारू रूप से कर सकें। मेरी आप से विनती है कि 1031 हेल्प लाइन नंबर समान्य हेल्प लाइन नंबर नहीं है। इस पर समान्य फोन काॅल मत करिएगा। अगर अधिक फोन आएंगे तो यह जाम हो जाएगा। केवल आवश्यक सेवाएं देने वाले लोग ही अपना पास लेने के लिए इस पर काॅल करेंगे। अन्य लोग से विनती है कि वे इस नंबर पर अनावश्यक फोन न करें।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जो आम जनता है। जिसे दूध, सब्जी व अन्य सामान खरीदना है, उन्हें ई-पास की जरूरत नहीं है। उन्हें अपने आस-पास की किराने की दुकान तक जाने के लिए किसी पास की जरूरत नहीं है। अगर आपको कोई छोटी-मोटी वस्तु खरीदने के लिए पैदल आसपास के दुकान तक जाना है, तो इसकी अनुमति है। इसके लिए कोई मना नहीं करेगा।

डाॅक्टर व नर्सों को धमकी देने वाले मकान मालिकों पर सख्त कार्रवाई होगी- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सुनने में आया है कि डाॅक्टर और नर्सों को कुछ मकान मालिक अपने घर से निकालने की धमकी दे रहे हैं। मकान मालिकों का कहना है कि यह डाॅक्टर्स और नर्सेंज 24 घंटे कोरोना के मरीजों के बीच रहते हैं। इसलिए इन्हें कोरोना हो गया है और अगर यहां रहेंगे तो उन्हें भी कोरोना हो जाएगा। मुख्यमंत्री ने सख्त चेतावनी दी है कि इस तरह की शिकायतों को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यह गलत है। उन मकान मालिकों को कहना चाहता हूं कि भगवान न करे कि कल को आपके बच्चे को कोरोना हो गया तो वह डाॅक्टर और नर्स ही काम आएंगे और कोई काम नहीं आएगा। इसलिए ऐसा मत कीजिए। यह डाॅक्टर और नर्स हमारे लिए भगवान का काम कर रहे हैं। हमारी जिंदगी बचा रहे हैं। मेरी सभी मकान मालिकों से निवेदन है कि इनको सलाम करना चाहिए, इनका शुक्रिया करना चाहिए। सारे देश को शुक्रया करना चाहिए, यह लोग बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। अगर यह लोग संक्रमित हुए तो हम लोग इनकी सेवा करेंगे और इलाज कराएंगे। इसके बाद भी अगर कोई मकान मालिक नहीं माना तो दिल्ली सरकार ने आदेश जारी कर दिया है। दिल्ली पुलिस ऐसे मकान मालिकों पर सख्त से सख्त कार्रवाई करेगी।

सभी लोगों के साथ से ही सरकार के प्रयास होंगे सफल- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार ने कई स्थानों पर गरीबों के लिए खाने की व्यवस्था की है। हम 72 लाख लाख लोगों को 7.5 किलो मुफ्त राशन दे रहे हैं। हम 8.5 लाख परिवारों को पेंशन दे रहे हैं। इसके बावजूद ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो इसके दायरे से बाहर हैं। ऐसे लोग भी होंगे, जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, जिनको पेंशन नहीं मिलेगी, जो बिल्कुल भुखमरी की कगार पर होंगे। हम नहीं चाहते हैं कि वे कोरोना से तो बच जाएं, लेकिन भूखमरी के शिकार हो जाएं। दिल्ली सरकार ने कई रैन बसेरों में उनके लिए खाने का इंतजाम किया है। लेकिन अब खाना खाने वालों की संख्या बढ़ रही है। इसके लिए किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है। मैने आदेश दिए हैं कि ऐसे स्थानों की संख्या बढ़ाई जाए। हम विभिन्न स्थानों पर खाने का केंद्र बढ़ा रहे हैं और वहां पर भी सामाजिक दूरी का पालन किया जा रहा है। लाइन में खड़े होकर खाने वाले लोग सामाजिक दूरी का पालन कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सरकार जितना भी प्रयास कर कर ले, सरकार तब तक नहीं सफल हो सकती है, जब तक समाज और देश साथ नहीं देगा। मेरी आप सभी लोगों से विनती है कि यह बहुत पुण्य का काम है। नवरात्र का दिन चल रहा है। आप लोग ज्यादा से ज्यादा संख्या में अपने-अपने इलाके की जिम्मेदारी लीजिए। आप अपने पड़ोस के झुग्गी बस्ती और कच्ची काॅलोनी के अंदर की जिम्मेदारी लें कि इस इलाके के किसी व्यक्ति को भूखा नहीं सोने दूंगा। यह आप लोग सुनिश्चित करिए कि किसी को भूखा सोने नहीं दूंगा। जिन-जिन लोगों को भगवान ने जिंदगी में कुछ दिया है, वह सब लोग जिम्मेदारी लें कि भगवान ने दूसरों के काम आने के लिए कुछ दिया है। यह पुण्य का काम है और यही सच्ची देशभक्ति है।

इस तरह मिलेगा 1031 पर ई-पास

जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों को 1031 पर फोन करना होगा। जहां उनकों अपनी डिटेज देनी होगी। डिटेल और लोकेशन के आधार पर फोन करने वाले व्यक्ति को एक वाट्सएप नंबर दिया जाएगा। वह उस नंबर पर डिटेल वाट्सएप करेगा। इसके बाद उसके वाट्सएप पर ई-पास आ जाएगा।


दुकानों पर भीड़ एकत्र होगी तो लाॅक डाउन का मकसद खत्म हो जाएगा- अरवदिं केजरीवाल

इससे पहले, कोरोना के मद्देनजर 21 दिन के लिए लाॅक डाउन की घोषणा के बाद दिल्ली के एलजी अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राज्य आपदा प्रबंधन समिति के सभी अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की। बैठक के बाद एलजी और मुख्यमंत्री ने संयुक्त रूप से प्रेस कांफ्रेंस कर दिल्ली सरकार की तरफ से उठाए गए जरूरी कदमों की जानकारी दी। एलजी अनिल बैजल ने कहा कि हम प्रधानमंत्री जी को बधाई देना चाहते हैं कि उन्होंने कोरोना के प्रकोप की रोकथाम के लिए बड़ा फैसला लेते हुए देश में 21 दिन का लाॅक डाउन करने का फैसला लिया है। वतर्मान में जो हालात हैं, लाॅक डाउन ही उसका सही उपाय है। हम भारत सरकार से जारी लाॅक डाउन की अधिसूचना को शत प्रतिशत प्रभावी तरीके से लागू कराएंगे।
वहीं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के संदर्भ में केंद्र सरकार, एलजी साहब, दिल्ली सरकार और दिल्ली पुलिस, हम सब लोग एकजुट होकर आप सभी लोगों के लिए काम कर रहे हैं। आपके स्वास्थ्य, आपकी जिंदगी और आप तक आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाने के लिए काम कर रहे हैं। इसमें हमें आप सब लोगों की मदद की जरूरत है। इससे आप लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है। कल हमने प्रधानमंत्री जी के उदघोषण के बाद देखा कि रात 8 बजे के बाद दुकानों पर सामान खरीदने को लेकर लाइनें लगने लगी। अगर हम दुकानों पर भीड़ एकत्र करेंगे, तो जिस वजह से लाॅक डाउन किया गया है, उसका मकसद ही खत्म हो जाएगा। इस तरह से हम भीड़ में जाएंगे, तो उस लाॅक डाउन का उद्देश्य खत्म हो जाएगा। फिर एक-दूसरे से लोगों में कोरोना फैल जाएगा।

अफवाह न फैलाएं, सभी को जरूरी सामान पहुंचाने की जिम्मेदारी हमारी- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम आप सभी लोगों को आश्वस्त कराना चाहते हैं कि हमने अपनी तरफ से पूरी तैयारी की है। हम किसी भी हालत में आप सभी को आवश्यक वस्तुओं की कमी नहीं होने देंगे। हम आपकी सेवा में हमेशा हाजिर हैं। किसी तरह से मत घबराइए। यह अफवाह मत फैलाइए कि कोई दुकान नहीं खुलेगी। दुकानें खुलवाने की जिम्मेदारी हमारी है। आपके इलाके तक सब्जी पहुंचाने की जिम्मेदारी हमारी है। आपके इलाके तक दवाइयां, दूध व रोजमर्रा की चीजें पहुंचाने की जिम्मेदारी हमारी है। दुकानें खुलेंगी और आप तक सारी जरूरत के सामान भी पहुंचेंगे।

पुलिस से संबंधित मदद के लिए हेल्प लाइन नंबर 011-23469536 पर काॅल करें – अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने अपने आॅफिस का एक हेल्प लाइन नंबर जारी किया है। अगर आपको कहीं पुलिस से किसी तरह की दिक्कत आती है, तो आप उस नंबर पर काॅल कर मदद प्राप्त कर सकते हैं। पुलिस कमिश्नर ने आश्वस्त किया है कि तुरंत कार्रवाई की जाएगी। पुलिस का हेल्प लाइन नंबर 011-23469536 है। यह नंबर पुलिस कमिश्नर के कार्यालय का है। पुलिस से कहीं पर भी दिक्कत आती है, तो इस नंबर पर काॅल कर सकते हैं। हम पूरी तरह से प्रयास कर रहे हैं कि कोराना वायरस महामारी की वजह से इस 21 दिन की अवधि में कोई भी भूखा न सोए। उसके लिए हम तमाम तरह के प्रयास कर रहे हैं। किसी भी तरह से आप लोगों को कोई परेशानी नहीं हो, हम इसका प्रयास करेंगे। हालांकि यह काफी मुश्किल अवधि है। आपको परेशानियां होंगी, लेकिन हम सब लोगों को मिल कर इसका सामना करना है।