Delhi Jal Board to Contribute One Day Salary to Chief Minister Relief Fund to Fight Corona: Raghav Chadha


  • Delhi Jal Board To Donate nearly Rs. 2 Crore to Chief Minister Relief Fund to Fight Corona: Raghav Chadha, VC DJB
  • Delhi Jal Board is the first among the State Government’s Departments to declare monetary support to fight corona

Delhi Jal Board (DJB) Vice-Chairman Raghav Chadha said that all employees of DJB has decided to contribute one-day salary to Chief Minister’s Relief Fund to support the Delhi government’s fight against coronavirus. Delhi Jal Board is the first among the State Government’s Departments to declare the support.

“The staff of the Delhi Jal Board has unanimously decided to donate one day’s salary to Chief Minister Relief Fund in the wake of corona pandemic. This is a humble effort to support Delhi government’s fight against coronavirus. To extend every possible help that can be provided to the society is the need of the hour. My grateful thanks to my colleagues and we all pray for the safety and well-being of all citizens”, Raghav Chadha said.

Chadha said that with the contribution of one day salary, an amount of roughly Rs. 2 crore will be transferred to Chief Minister’s relief fund on behalf of the DJB family. The amount will be from the officials’ salary of Apr-2020. “I thank everyone at Delhi Jal Board for this generosity. It is truly a great humanitarian gesture” Chadha added.

Chadha said that the Delhi government under the leadership of CM Kejriwal is making all possible efforts to contain the spread of coronavirus in the state and ensure people face the least difficulty during the lockdown. In line with CM Arvind Kejriwal’s mission that no one in Delhi should remain hungry, the government has increased the capacity to feed 10 lakh people on a daily basis. We at the DJB are is working round the clock to ensure uninterrupted supply of water and unhindered sewerage services during the lockdown, he added.

“The onus is on all of us to take collective action and act responsibly. We at DJB take inspiration from our frontline heroes – from our doctors, nurses and healthcare workers to those who are ensuring the supply of essential services in these tough times. We should all ensure that we adhere to the lockdown and maintain social distancing – this is crucial to ensure the safety of our loved ones. “, he further added.


दिल्ली जल बोर्ड कोरोना से लड़ने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में एक दिन की तनख्वाह देगा : राघव चड्ढा

  • दिल्ली जल बोर्ड लगभग 2 करोड़ रुपये कोरोना से लड़ने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में देगा : राघव चड्ढा, वीसी डीजेबी
  • दिल्ली जल बोर्ड कोरोना से लड़ने के लिए आर्थिक सहायता की घोषणा करने वाला राज्य सरकार का पहला विभाग बना

दिल्ली जल बोर्ड (डीजेबी) के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने कहा कि डीजेबी के सभी कर्मचारियों ने कोरोना वायरस के खिलाफ दिल्ली सरकार की लड़ाई का समर्थन करने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में एक दिन के वेतन का योगदान करने का फैसला किया है। सहायता की घोषणा करने वाला राज्य सरकार के विभागों में दिल्ली जल बोर्ड पहला विभाग है।

 राघव चड्ढा ने कहा कि “दिल्ली जल बोर्ड के कर्मचारियों ने सर्वसम्मति से कोरोना महामारी के मद्देनजर मुख्यमंत्री राहत कोष में एक दिन का वेतन दान करने का फैसला किया है। यह दिल्ली सरकार के कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई का समर्थन करने के लिए एक प्रयास है। राघव चड्ढा ने कहा कि मेरे सहयोगियों और हम सभी नागरिकों की सुरक्षा और कल्याण के लिए प्रार्थना करते हैं। चड्ढा ने कहा कि एक दिन के वेतन के योगदान से लगभग डीजेबी परिवार की ओर से 2 करोड़ रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष में स्थानांतरित किए जाएंगे। राशि अप्रैल-2020 के अधिकारियों व कर्मचारियों के वेतन से होगी। राघव चड्ढा ने कहा कि “मैं इस उदारता के लिए दिल्ली जल बोर्ड में सभी को धन्यवाद देता हूं। यह वास्तव में एक महान मानवीय कार्य है। चड्ढा ने कहा कि सीएम अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार राज्य में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने और लोगों को लॉकडाउन के दौरान कम से कम कठिनाई का सामना करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। सीएम अरविंद केजरीवाल के इस अभियान के अनुरूप कि दिल्ली में कोई भी भूखा न रहे, सरकार ने दैनिक आधार पर 10 लाख लोगों को खाना खिलाने का इंतजाम किया है। उन्होंने कहा कि डीजेबी लॉकडाउन के दौरान पानी की निर्बाध आपूर्ति और निर्बाध सीवरेज सेवाओं को सुनिश्चित करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं।

राघव चड्ढा ने कहा कि “हम सभी पर सामूहिक कार्य करने और जिम्मेदारी से कार्य करने का दायित्व है। डीजेबी में हम अपने अग्रिम पंक्ति के नायकों – अपने डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य सेवा कार्यकर्ताओं से प्रेरणा लेते हैं, जो इन कठिन समय में आवश्यक सेवाएं सुनिश्चित कर रहे हैं।” सभी को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि हम लॉकडाउन का पालन करें और सामाजिक दूरी बनाए रखें – यह हमारे प्रियजनों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण है।