दिल्ली सरकार मई में जरूरतमंदों को पहले से दोगुना और मुफ्त राशन देगी- अरविंद केजरीवाल


  • समान्य रूप से 5-5 किलो प्रति व्यक्ति दिया जाता है राशन, पिछले माह डेढ़ गुना (7.5 किलो) दिए थे, इस माह 10 किलो हर व्यक्ति को राशन देंगे, साथ में जरूरी सामान का एक किट भी दिया जाएगा – अरविंद केजरीवाल
  • लॉकडाउन की वजह से कोटा में फंसे छात्रों को लाने के लिए 40 बसें रवाना, कल तक घर पहुंचने की उम्मीद, सभी को घर में ही 14 दिनों तक रहना होगा क्वारंटीन- अरविंद केजरीवाल
  • दिल्ली में प्रति 10 लाख आबादी पर हो रहे 2300 टेस्ट, जबकि पूरे देश में औसतन 500 टेस्ट हो रहे, दिल्ली में अब तक 1100 लोग ठीक होकर घर लौटे- अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में रहने वाले जरूरतमंद लोगों को इस महीने दोगुना राशन दिया जाएगा। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लाॅकडाउन की मार सबसे अधिक गरीबों को पड़ी है। दिल्ली सरकार समान्य रूप से प्रति व्यक्ति हर महीने 5-5 किलो राशन देती है, लेकिन पिछले माह सभी को डेढ़ गुना (7.5 किलो) राशन दिया गया था और इस माह हर व्यक्ति को 10 किलो राशन दिया जाएगा। राशन के साथ सभी को एक किट भी दी जाएगी, जिसमें दैनिक उपयोग के सामान होंगे। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लाॅकडाउन की वजह से कोटा में फंसे छात्रों को लाने के लिए 40 बसें रवाना कर दी गई हैं। यह सभी बसें निजी आॅपरेटर की हैं। उम्मीद है कि कल तक सभी छात्र घर वापस आ जाएंगे, लेकिन उन्हें अपने घर में ही 14 दिनों तक क्वारंटीन रहना होगा। मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि दिल्ली में करीब 3500 केस हो गए हैं। जिससे लगता है कि दिल्ली में कोराना तेजी से फैल रहा है, जबकि ऐसा नहीं है। दिल्ली सरकार प्रति 10 लाख आबादी पर 2300 टेस्ट करा रही है, जबकि देश के अन्य राज्यों में यह आंकड़ा औसतन 500 टेस्ट का है। वहीं, अब तक दिल्ली में 1100 लोग ठीक होकर घर जा चुके हैं।
अधिक टेस्ट होने की वजह से कोरोना के ज्यादा मरीज आ रहे सामने- अरविंद केजरीवाल
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि दिल्ली में कल रात तक करीब 3515 केस कोरोना के हुए हैं। इनमें से 1100 लोग ठीक होकर अपने घर चले गए हैं। जबकि 59 लोगों की मौत हो गई है। वहीं, 2362 लोग अभी एक्टीव हैं। एक तरह से दिल्ली में करीब साढ़े तीन हजार केस कोरोना के हुए हैं। इन आंकड़ों से हमें लगता है कि दिल्ली में केस बडी तेजी से बढ़ रहे हैं, लेकिन दिल्ली में हमने खूब जांच कराने का निर्णय लिया है, ताकि पता चल जाए कि कौन संक्रमित है। उसे अलग कर उसका इलाज कराया जा सके, ताकि वह और लोगों में कोरोना न फैलाए। हम दिल्ली में खूब टेस्ट करा रहे हैं। आज दिल्ली के अंदर प्रति 10 लाख की आबादी पर करीब 2300 टेस्ट हो रहे हैं। जबकि पूरे देश का आंकड़ा 10 लाख की आबादी पर करीब 500 टेस्ट हैं। एक तरफ पूरे देश में प्रति 10 लाख आबादी पर 500 टेस्ट हो रहे हैं, तो दिल्ली में यह 2300 के करीब हैं। जांच अधिक होने की वजह से लग रहा है कि दिल्ली में केस अधिक बढ़ते जा रहे हैं, लेकिन इसका एक पाॅजिटिव परिणाम भी सामने आ रहा है। दिल्ली में ज्यादा लोग कोरोना से ठीक होकर घर जा रहे हैं। अब तक 1100 लोग ठीक होकर घर चले गए। आने वाले कुछ दिनों के अंदर और भी कई लोग ठीक होकर घर जाने वाले हैं।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के अंदर जितने लोग कोरोना से प्रभावित मिले, उनमें मरने वालों की संख्या भी सिर्फ 59 है। अन्य राज्य व देश से तुलना किया जाए, तो यह भी काफी कम है। फिर भी हमें इसे और कम करना है। हम पूरी कोशिश कर रहे हैं। पूरी दिल्ली के अंदर खूबर सारे कंटेन्मेंट जोन बनाए हैं। कई कंटेन्मेंट जोन में लोग ठीक हो रहे हैं और उन्हें कंटेन्मेंट जोन से बाहर भी किया जा रहा है। पूरी सरकारी मशीनरी लगी हुई है। एक तरफ हमें कोरोना को फैलने से रोकना है और दूसरी तरफ, हमें कोशिश करना है कि यदि किसी को हो भी जाए, तो वह ठीक होकर घर चला जाए। किसी भी हालत में किसी की मौत नहीं होनी चाहिए।
प्लाज्मा थेरेपी से ठीक हुआ पहला मरीज घर लौटा, जारी रहेगा प्लाज्मा थेरेपी का परीक्षण- अरविंद केजरीवाल
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एलएनजेपी में हमें केंद्र सरकार से प्लाज्मा थेरेपी का परीक्षण करने की अनुमति मिली थी। हमने कुछ मरीजों को प्लाज्मा दी और उनमें से पहला मरीज कल ठीक होकर अपने घर चला गया है। वह काफी गंभीर थे और आईसीयू में थे। अब वह बिल्कुल ठीक हैं। हमें प्लाज्मा थेरेपी के प्राथमिक नतीजे अच्छे मिल रहे हैं। अभी कुछ दिन पहले केंद्र सरकार की तरफ से कुछ बयान आए थे, जिनकी वजह से असमंजस की स्थिति पैदा हुई थी। कई लोगों के फोन आए कि क्या प्लाज्मा थेरेपी को बंद कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने सिर्फ इतना कहा था कि प्लाज्मा थेरेपी जिन लोगों के लिए केंद्र सरकार से अनुमति है, वही लोग प्लाज्मा थेरेपी के ट्रायल करें। प्लाज्मा थेरेपी के अभी नतीजे अंतिम नहीं आए हैं। अभी उसका परीक्षण चल रहा है। यही केंद्र सरकार ने कहा था और हम भी यही मानते हैं। अभी हम लोग एलएनजेपी अस्पताल में जो गंभीर मरीज हैं, उन पर परीक्षण करके देख रहे हैं कि कैसे नतीजे आते हैं। जैसे-जैसे नतीजे आ रहे हैं, उसे मैं आप सभी के सामने रख देता हूं। शुरूआती नतीजे अच्छे आए हैं और हम उम्मीद करते हैं कि आगे भी नतीजे अच्छे आएंगे, जिससे कुछ सामाधान मिल सकेगा। दिल्ली में प्लाज्मा थेरेपी का परीक्षण पूरे जोर-शोर से चल रहे हैं और जैसे-जैसे नतीजे आएंगे, हम बताएंगे।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुझे बेहद खुशी है कि 1100 लोग जो ठीक हो गए हैं, उनसे हम सभी संपर्क कर रहे हैं और लगभग सभी लोग अपना प्लाज्मा डोनेट करने के लिए तैयार हैं। उन्हें लगता है कि मैं बच गया और उनकी वजह से किसी की जान बच जाएगी, तो और अच्छी बात है। मुख्यमंत्री ने प्लाज्मा डोनेट करने की सहमति देने वाले सभी लोगों को धन्यवाद दिया।
केंद्र सरकार से मंजूरी मिलने के बाद कोटा से छात्रों को लाने के लिए भेजी 40 बसें, अन्य राज्य सरकारों से भी चल रही बात – अरविंद केजरीवाल
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के कुछ छात्र राजस्थान के कोटा में आईआईटी की तैयारी करने गए हुए हैं, वो फंसे हुए हैं। उनके कई मैसेज कुछ दिनों से आ रहे हैं और वे अपने घर लौटना चाहते हैं। दिल्ली सरकार के हाथ बंधे हुए थे, क्योंकि केंद्र सरकार की मंजूरी के बिना हम कोई एक्शन नहीं लेना चाहते थे। परसों केंद्र्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। आज दिल्ली सरकार निजी आपरेटर से लेकर करीब 40 बसें कोटा भेज रही है। मुझे उम्मीद है कि कल यह बसें सभी बच्चों को लेकर वापस आ जाएंगी। मुझे खुशी है कि अब वे बच्चे अपने माता-पिता से मिल पाएंगे। मेरी तरह से सभी बच्चों से अपील है कि आने के बाद सभी को 14 दिन तक के लिए घर में क्वारंटीन करना होगा। ताकि दूसरों को न फैले।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस वक्त सबसे अधिक मार गरीबों को लगी है। प्रतिदिन कमा कर खाने वालों के घर में खाने के लाले पड़ गए हैं। इस महीने हम सभी को मुफ्त में राशन दोगुना देंगे। हर महीने समान्य रूप से 5-5 किलो राशन दिया जाता है। पिछले महीने हमने डेढ़ गुना राशन प्रति व्यक्ति दिया था। इस महीने दिल्ली सरकार 10 किलो राशन प्रति व्यक्ति मुफ्त दे रही है, ताकि आपके घर में खाने की दिक्कत नहीं हो। राशन के साथ हम रोजमर्रा की एक किट दे रहे हैं। जिसमें साबून, तेल नमक आदि किट में है।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मेरे पास कई लोगों के मैसेज व फोन आ रहे हैं कि यूपी, बिहार, झारखंड के जो लोग अपने घर जाना चाहते हैं, उनका क्या? इस संबंध में सभी राज्य सरकारों से बातचीत चल रही है। उनसे बातचीत को जो नतीजे निकलेंगे, हम सभी को अवगत कराएंगे। तब तक सभी लोग अपने घर में रहिए, लाॅक डाउन का पालन करिए, ताकि हम कोरोना को हरा सकें। जल्दबाजी न करें, इस वक्त संयम रखना जरूरी है। जिस राज्य के साथ जो भी अंतिम निर्णय होगा, मैं खुद सभी को अवगत कराउंगा।
अपने इलाके में किसी को भी भूखा नहीं रहने दें ‘आप’ वालेंटियर्स- अरविंद केजरीवाल
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आम आदमी पार्टी के सभी वालेंटियर्स से कहा कि आम आदमी पार्टी कोई पार्टी नहीं है। आम आदमी पार्टी एक क्रांति है। आप सभी लोग क्रांतिकारी हैं। आप तन, मन, धन देश के नाम समर्पित करके आम आदमी पार्टी में आए थे। देश के लिए अपनी देशभक्ति समर्पित करने का यही मौका है। आप बिल्कुल निडर होकर इस वक्त जनता की सेवा कीजिए। सभी वालेंटियर्स को एक काम यह करना है कि अपने इलाके के अंदर किसी को भूखे नहीं मरने देना है। किसी को कोई भी चीज की जरूरत है, आप आगे बढ़ कर उसकी मदद करें, यह पुण्य का काम है और यही देशभक्ति है। इसके साथ सोशल डिस्टेंसिंग के साथ अपनी भी सुरक्षा रखिए, लेकिन जो भी इस वक्त जरूरतमंद है, उन सभी की मदद करनी है। अगर उसमें मेरी या सरकार की जरूरत पड़े, तो बताते रहें।———

राशन किट में यह होगा समान——–
– 1 लीटर रीफाइन तेल
– 1 किलो चीनी
– 1 किलो छोले चने
– 1 किलो नमक
– 200 ग्राम हल्दी
– 200 ग्राम धनिया
– 200 ग्राम लाल मिर्च
– 60-70 ग्राम की साबुन की दो चक्की