दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन का बयान


दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में कल तक 41182 केस थे, जिसमें 2224 केस नए हैं। अभी दिल्ली में 24032 केस एक्टिव हैं। करीब 1327 लोगों की मौत हो चुकी है और जितने लोग संक्रमित हैं, उनमें से करीब 5800 लोग अस्पताल में हैं।

केंद्रीय गृहमंत्री के साथ कल हुई बैठक के संबंध में स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि कल की बैठक काफी उपयोगी रही। बैठक का मुख्य परिणाम यह रहा कि कोरोना से लड़ने के लिए केंद्र की सरकार और दिल्ली सरकार मिल कर काम करेंगी। इसके अलावा दिल्ली के मेयर्स के साथ भी बैठक हुई और उनको भी कहा गया है कि सब मिल कर काम करेंगे।

स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने कहा कि कोरोना की जांच के लिए केंद्र सरकार की भी लैब है और दिल्ली सरकार की भी लैब है। ज्यादातर लैब केंद्र सरकार की हैं। अब उन सभी लैब्स में जांच की सुविधा को बढ़ा रहे हैं। हम देश में सबसे अधिक जांच कर रहे थे और अब केंद्र सरकार से सहयोग मिलेगा तो और ज्यादा जांच करेंगे। स्वास्थ्य मंत्री ने छोटे अस्पतालों के संबंध में जारी आदेश वापस लेने के संबंध में कहा कि दिल्ली सरकार ने यह इसलिए किया, क्योंकि पहले हम बेड की संख्या को बढ़ाना चाहते थे। लेकिन अभी डेंगू और मलेरिया का मौसम भी आने वाला है, तब उसके लिए छोटे नर्सिंग होम की जरूरत पड़ेगी। इसलिए आदेश को वापस लिया गया है।

स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने मानसून को लेकर चल रही तैयारियों के संबंध में कहा कि मानसून को लेकर हमारी तरफ से तैयारियां शुरू कर दी गई है। इस समय सिमेंटिंग का काम चल रहा है।

कोरोना मरीजों के लिए ट्रेन कोच और बैंक्वेट हाॅल में बेड बढ़ा कर उसको अस्पताल की तरह इस्तेमाल किया जाएगा। अस्पताल के अंदर गंभीर मरीज रखे जाएंगे और जो मरीज थोड़े ठीक हैं, उन्हें कोच व बैंक्वेट हाॅल में बने बेड पर रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि जितने ज्यादा केस होंगे, उतने ही ज्यादा बेड बनाए जाएंगे। आज भी दिल्ली में 45 प्रतिशत बेड उपलब्ध है। विभिन्न स्थानों पर हम जल्द ही और बेड तैयार कर लेंगे। पूरी योजना के तहत काम हो रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन ने सामुदायिक फैलाव के संबंध में कहा कि दिल्ली के अंदर सामुदायिक फैलाव है या नहीं है, हमें इसकी टेक्निकल्टी में जाने की जरूरत नहीं है। बीमारी दिल्ली के अंदर भी काफी फैली हुई है और बड़े शहरों में जनसंख्या घनत्व अधिक होने के कारण वायरस अधिक फैल रहा है। दिल्ली में इसे फैलने से रोकने के लिए दिल्ली सरकार ठोस कदम उठा रही है।

मैने पहले भी बताया है कि कोरोना की बीमारी सबसे तेजी से फैलती है। अभी तक जितने भी संक्रमण से होने वाली बीमारियां हैं, उन सब में कोरोना सबसे अधिक तेजी से फैलता है। उन्होंने कहा कि कई लोगों को लगता था कि मास्क लगाने की जरूरत नहीं है और कई लोग सोचते हैं कि कहीं भी थूक सकते हैं, ऐसे लोगों पर जुर्माना लगेगा, ताकि उनको नियंत्रित किया जा सके।