DJB Vice-Chairman Raghav Chadha holds a meeting with senior officials to ensure uninterrupted water supply in the time of lockdown


  • Raghav Chadha reviews water distribution through tankers, orders to ensure unhindered movement of tankers
  • DJB will ensure uninterrupted water and unhindered sewage service in Delhi during the lockdown: Raghav Chadha

Hon’ble Vice -Chairman DJB Shri Raghav Chadha chaired a meeting today i.e 25-03-2020 to review the present water supply services and preparedness to maintain uninterrupted water supply and unhindered sewage services in NCT of Delhi in coming days in view of complete lockdown. The meeting was attended by all senior officers and officials of the Board.

In the meeting chaired by Vice-Chariman, the Delhi Jal Board, an essential service provider has taken following decisions to ensure uninterrupted water and wastewater services in entire Delhi alongwith adoption of strict social distancing measures:

  1. The stock position and availability of chemicals and other items used in treatment of water was reviewed and directions were given to the officials to ensure that supply chain of such essential chemicals and other items which are required to maintain the supply of clean drinking water remains uninterrupted.
  2. Water distribution through water tankers was reviewed and necessary instructions were given with regard to coordination with local police officials for unhindered movement of tankers and instructions with regard to social distancing while supplying the water through tankers.
  3. Concerned senior DJB officers were directed to take the local administration of Police and Magistrates in confidence in the event any problem is faced in movement of water tankers.
  4. Availability of staff/ human resources (fitters, beldars etc.) on the ground to provide best possible service level has to be ensured. It was noted in the meeting that there is an issue of out stationed employees that are unable to report due to non-availability of inter state conveyance and inter-state travel restrictions. Senior DJB officials were directed to coordinate with local police and DMs/SDMs in the neighbouring satellite towns to facilitate the travel of such employees who come from outside Delhi.
  5. Maintenance and service level quality to be ensured during the lockdown period.
  6. All workshops involved in providing necessary equipment and stocks for repair, maintainance necessary for the functioning of the treatment plants and DJB network lines were asked to make appropriate provisions so that supply chain is not distributed.
  7. Delegation of emergency powers ( financial and administrative) to field officials was done for immediate and swift disposal of work and greviances.
  8. Decision regarding quick release of payment to vendors who are involved in day to day operations and maintenance of plants and Delhi Jal Board network is taken so that they do not face any financial crunch and their service quality remains unaffected.
  9. Engineering divisions were directed to ensure adequate water supply using tankers at night shelters set-up by the Govt., where the food is being provided to the poor and destitute.

लाँक डाउन में जलापूर्ति सुनिश्चित कराने के लिए दिल्ली जल बोर्ड के वाइस चेयरमैन राघव चड्ढा ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ की बैठक

  • राघव चड्ढा ने टैंकरों के माध्यम से हो रहे जल वितरण की समीक्षा की, टैंकरों का बिना लाइसेंस आवागमन सुनिश्चित करने के आदेश
  • लाँक डाउन के दौरान डीजेबी दिल्ली में निर्बाध पानी और निर्बाध सीवेज सेवा सुनिश्चित करेगा : राघव चड्ढा नई दिल्ली, 25 मार्च, 2020

दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष श्री राघव चड्ढा ने लाँक डाउन के मद्देनजर आने वाले दिनों में दिल्ली में निर्बाध जल आपूर्ति और निर्बाध सीवेज सेवाओं को बनाए रखने के लिए वर्तमान जल आपूर्ति सेवाओं और तैयारियों की समीक्षा करने के लिए आज एक बैठक की । बैठक में बोर्ड के सभी वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष की अध्यक्षता में हुई बैठक में पूरी दिल्ली में निर्बाध पानी और अपशिष्ट जल सेवाओं को सुनिश्चित करने के लिए निम्नलिखित फैसले लिए हैं, इस दौरान सख्त सामाजिक दूर करने के उपायों को अपनाया जाएगा।

  1. जल के उपचार में प्रयुक्त रसायनों और अन्य वस्तुओं की स्टॉक स्थिति और उपलब्धता की समीक्षा की गई और अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि वे इस तरह के आवश्यक रसायनों और अन्य वस्तुओं की आपूर्ति श्रृंखला सुनिश्चित करें जो स्वच्छ पेयजल की आपूर्ति बनाए रखने के लिए आवश्यक हैं।
  2. पानी के टैंकरों के माध्यम से पानी के वितरण की समीक्षा की गई और टैंकरों के माध्यम से पानी की आपूर्ति करते समय सामाजिक गड़बड़ी के संबंध में स्थानीय पुलिस अधिकारियों के साथ समन्वय के लिए आवश्यक निर्देश दिए गए।
  3. वरिष्ठ डीजेबी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वे पानी के टैंकरों की आवाजाही में किसी भी समस्या का सामना करने की स्थिति में पुलिस और मजिस्ट्रेटों का सहयोग लें।
  4. सर्वोत्तम संभव सेवा स्तर प्रदान करने के लिए धरातल पर कर्मचारियों / मानव संसाधनों (फिटर, बेल्डर्स इत्यादि) की उपलब्धता सुनिश्चित की जानी चाहिए। बैठक में यह उल्लेख किया गया कि बाहर तैनात कर्मचारियों की एक समस्या है जो अंतर-राज्यीय यात्रा और अंतर-राज्य यात्रा प्रतिबंधों की अनुपलब्धता के कारण रिपोर्ट करने में असमर्थ हैं। डीजेबी के वरिष्ठ अधिकारियों को ऐसे स्थानीय कर्मचारियों और स्थानीय दिल्ली के डीएम / एसडीएम के साथ समन्वय करने के लिए निर्देशित किया गया था, जो दिल्ली से बाहर से आने वाले ऐसे कर्मचारियों की यात्रा की सुविधा प्रदान करते हैं।
  5. लॉकडाउन अवधि के दौरान रखरखाव और सेवा स्तर की गुणवत्ता सुनिश्चित की जाए।
  6. मरम्मत के लिए आवश्यक उपकरण और स्टॉक प्रदान करने में शामिल सभी कार्यशालाओं, उपचार संयंत्रों के कामकाज के लिए आवश्यक रखरखाव और डीजेबी नेटवर्क लाइनों को उचित प्रावधान बनाने के लिए कहा गया था ताकि आपूर्ति श्रृंखला वितरित न हो।
  7. क्षेत्र के अधिकारियों को आपातकालीन शक्तियों (वित्तीय और प्रशासनिक) का प्रतिनिधिमंडल कार्य और ग्रीवांस के त्वरित और त्वरित निपटान के लिए किया गया था।
  8. दिल्ली जल बोर्ड नेटवर्क के संचालन और रखरखाव के लिए दिन में शामिल होने वाले विक्रेताओं को भुगतान की त्वरित रिहाई के बारे में निर्णय लिया जाता है ताकि उन्हें किसी भी वित्तीय संकट का सामना न करना पड़े और उनकी सेवा की गुणवत्ता अप्रभावित रहे।
  9. इंजीनियरिंग डिवीजनों को सरकार द्वारा स्थापित रैन बसेरों में टैंकरों का उपयोग करके पर्याप्त पानी की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया था, जहाँ गरीबों और निराश्रितों को भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है।