Delhi government to carry out operation SHIELD at 21 locations identified as containment zones in Delhi: CM Arvind Kejriwal


  • Mistreatment of Safdarjung doctors unacceptable; strictest actions will be taken against the accused: CM Arvind Kejriwal
  • We have issued orders making masks compulsory for all in Delhi: CM Arvind Kejriwal

PRESS RELEASE
OFFICE OF THE CHIEF MINISTER
GOVT. OF NCT OF DELHI

All government departments in Delhi have been instructed to stop all expenses other than salaries; no other expenditure other than Corona and lockdown expenses to be incurred: CM Arvind Kejriwal

New Delhi: CM Arvind Kejriwal on Thursday said that 21 containment zones have been identified in Delhi, and operation SHIELD, which includes sealing, identifying and quarantining people in these containment zones will be implemented. Doorstep delivery of essential supplies and door-to-door checking of people in these areas will also be done by the Delhi government. He also said that the Delhi government will take strict action against people mistreating and misbehaving with healthcare professionals, after an incident came into light where two female doctors of Safdarjung Hospital were mistreated by a local in Gautam Nagar area of Delhi.

Addressing a video-conference, CM Arvind Kejriwal said, “Two female doctors from Safdarjung Hospital were mistreated yesterday by the locals near their residence, out of a belief that they are endangering others and spreading Corona in their area. Instances like these will not be tolerated. These doctors and nurses are saving our lives, they are treating our people for Corona. They are endangering themselves while treating Corona patients. And on the other hand, instead of being lauded for their efforts, they are being mistreated by the people for doing this.”

CM Arvind Kejriwal said that in a meeting held today with Hon’ble LG Anil Baijal along with other senior and police officials, instances like these were taken into account and it was decided that any person engaged in such activities will be given the strictest punishment possible. “I am glad that the person who was involved in the incident has been arrested by the police,” said CM Kejriwal.

Certain orders on behalf of the Delhi government were issued yesterday, under which it is necessary for every person stepping outside his home to wear a mask. “This has been advised based on recent observations and news from across the world where authorities are advising everyone, and not just people infected from Corona, to wear masks to protect themselves. Based on the experiences of other countries, we have issued orders that everyone stepping out of their homes in Delhi should wear masks. If you do not have a mask, you can use a clean cloth or a handkerchief to cover your nose and mouth so that you are not infected. I understand that this lockdown is a difficult time for all. But this lockdown is necessary for our own good. There have been 2000 deaths reported in the USA in the last 24 hours, we do not want to let that happen in India,” he added.

CM Arvind Kejriwal said, “Because of no economic activities taking place due to the lockdown, the tax collection of the government has stopped. In view of this, we have decided that except the Corona expenses and other related provisions such as free ration and food, no other expenses will be incurred on behalf of the government. We have issued orders regarding this, and we will have to do this further on a larger scale. All government departments in Delhi have been instructed to stop all expenses other than salaries. Any expenditure other than corona and lockdown expenses will be incurred only with the permission of the Finance Department. Given the current revenue situation, the government will have to drastically cut its expenditure. We need cooperation and support from the people.”

CM Arvind Kejriwal thanked people working on the ground to provide support like food and ration to the needy. “We are providing free ration to 71 lakh beneficiaries who have ration cards, and also to those people who do not have ration cards. Since this system was developed swiftly, some glitches need to be fixed. I am hearing that it is causing some incovenience to peole working on the ground, like the principals and teachers working in the schools where the ration is being distributed. I want to thank all these people who are working with us. I want to assure you that the system will be fixed soon.”

Containment has begun in 21 areas in Delhi, which have been sealed to protect people living their from COVID-19. CM Arvind Kejriwal said, “We have begun Operation SHIELD in those areas, wherein SHIELD means S – Sealing of the immediate area/surroundings after geographical marking, H – Home quarantine of all the people living in the area, I – Isolation and Tracing of people who have been first and second contacts, E – Essential Supplies which involves doorstep delivery of essential items to the people in those areas, L – Local sanitization and disinfection of those areas, and D – Door-to-door checking of those areas, so that people having symptoms of Corona are isolated, and testing can be done after taking samples. Whatever areas have Corona patients, Operation SHIELD has been put to force in those areas. We hope that you will support us in all these steps that we are taking to ensure that there is no spread of Corona in Delhi.”

CM Arvind Kejriwal reiterated his appeal to the people to stay inside, wear masks, practice social distancing, to protect themselves from COVID-19.


आँपरेशन शिल्ड के जरिए दिल्ली में कोरोना का कहन थामने में जुटी दिल्ली सरकार

  • कोरोना के केस पाए जाने वाले 21 इलाकों में कंटेंनमेंट लागू, किसी को अपने घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं, घर पर मिलेगी जरूरी वस्तुएं – अरविंद केजरीवाल
  • कंटेनमेंट लागू होने वाले 21 इलाकों में आँपरेशन शिल्ड चलेगा – अरविंद केजरीवाल
  • डाॅक्टर और नर्स अपनी जान दांव पर लगाकर हमारे लोगों का इलाज कर रहे – अरविंद केजरीवाल
  • किसी डाॅक्टर या नर्स के साथ दुव्र्यवहार बर्दाश्त नहीं, सख्त सजा मिलेगी- अरविंद केजरीवाल
  • दिल्ली में सभी को घर से निकलने पर मास्क पहनना अनिवार्य, इससे कोरोना को फैलने से रोका जा सकता है – अरविंद केजरीवाल
  • सभी को लाॅक डाउन से कठिनाई हो रही, लेकिन यह आपकी जिंदगी बचाने लिए है – अरविंद केजरीवाल
  • सरकार का टैक्स आना बंद हो गया है, अब सरकार केवल तनख्वाह और कोरोना से जुड़े मसले के अलावा कोई खर्च नही करेगी, आगे भी कटौती करनी पड़ेगी – अरविंद केजरीवाल
  • जिनके पास राशन कार्ड नहीं, उन्हें भी राशन बांट रहे, इस काम में लगे प्रधानाचार्यों और शिक्षकों का शुक्रिया – अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना का कहर थामने के लिए आँपरेशन शिल्ड को बड़े पैमाने पर चलाने का निर्णय लिया है। जिन 21 इलाकों में कंटेनमेंट लागू किया गया है, वहां आँपरेशन शिल्ड चलाया जा रहा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना के अधिक केस मिलने पर दिल्ली के 21 इलाकों में कंटेनमेंट लागू किया गया है। अब उस एरिया में किसी को भी घर से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। सभी जरूरत की वस्तुएं घर पर पहुंचाई जाएंगी। साथ ही आपरेशन शिल्ड के तहत कोरोना से निपटा जाएगा। सीएम ने कहा कि कोरोना का इलाज कर घर लौट रहे दो डाॅक्टरों के साथ दुव्र्यवहार करने के मामले को गंभीरता से लेते हुए ऐसे लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के आदेश दिया है। आरोपियों की गिरफ्तारी पर संतुष्टि जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री ने सख्त चेतावनी दी है कि इस तरह की हरकत बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि डाॅक्टर और नर्स अपनी जान दांव पर लगा कर लोगों का इलाज कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने स्कूलों में राशन बांट रहे प्रधानाचार्यों और शिक्षकों को धन्यवाद दिया है। साथ ही लोगों से अपील की है कि आप जितना साथ देंगे, उतना ही कोरोना से बचेंगे।

यह है आँपरेशन शिल्ड, इस तरह हो रहा संचालन

आपरेशन शिल्ड के तहत दिल्ली के 21 एरिया में हो रहा काम – अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में 21 ऐसे इलाके चिंहित किए गए हैं, जिनमें कंटेनमेंट (शिल्ड) लागू किया गया है। यह कंटेनमेंट क्या है? मुख्यमंत्री ने बताया कि जहां पर कुछ मरीज मिलते हैं, उस एरिया को हम सील कर देते हैं। कंटेनमेंट का सीधा तात्पर्य है कि हम उस एरिया को पूरी तरह से शिल्ड कर दिए। एक तरह से वहां पर आॅपरेशन शिल्ड चला दिया। शिल्ड में 6 अक्षर है। ‘एस’ अक्षर का मतलब सील कर दिया। उस एरिया में कुछ केस मिले तो उसे सील कर दिया है। उस एरिया के लोग बाहर नहीं जाएंगे। बाहर के लोग अंदर नहीं आएंगे। ‘एच’ अक्षर का मतलब होम क्वारेंटाइन है। उस एरिया के लोग अपने-अपने घर में ही रहेंगे। बाहर नहीं निकलेंगे। उस एरिया के अंदर भी लोग अपने-अपने घरों में रहेंगे और अपने घर से बाहर नहीं आएंगे। ‘आई’ अक्षर का मतलब आइसोलेशन एंड टेªसिंग है। जिन लोगों को कोरोना मिला है, उनको उस कमरे के अंदर आइसोलेट किया जाता है और वे पिछले दिनों में कहां-कहां घूमे, यह सीसीटीवी और मोबाइल फोन के जरिए पता करके उन सभी लोगों को चिंहित किया जाता है और सभी लोगों को आइसोलेट किया जाता है। सब को अपने-अपने घर में कमरे के अंदर बंद कर दिया जाता है, ताकि वह दूसरों से न मिले और दूसरे व्यक्ति को कोरोना न कर दे। ‘ई’ अक्षर का मतलब एसेंसियल सप्लाई है। उस इलाके अंदर रहने वाले लोगों को जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति डोर-टू-डोर के जरिए की जाती है। जरूरी वस्तुएं उनके घर पहुंचा दी जाती है, ताकि वो लोग घर से बाहर न निकलें। शिल्ड के ‘एल’ अक्षर का मतलब लोकल सेनिटाइजेशन है। उस पूरे एरिया को सैनिटाइज कर दिया जाता है। उस पूरे एरिया को दवाई छिड़क कर डिस-इंफेक्ट कर दिया जाता है।

डाॅक्टर और नर्स दो-तरफा मार झेल रहे हैं, उन्हें शाबाशी देनी चाहिए- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कल पता चला कि सफरदजंग अस्पताल के दो डाॅक्टर, जब अपने घर गए, तो उनके इलाके के कुछ लोगों ने उनके साथ दुव्र्यवहार किया। इलाके के लोगों का कहना था कि दोनों कोरोना के मरीज का इलाज करते हैं, और अपने इलाके में भी कोरोना को फैला देंगे। इस तरह की हरकत बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सभी समझ लें कि यह डाॅक्टर हमारी जिंदगी बचा रहे हैं। आज यह डाॅक्टर और नर्स काम करना बंद कर दें, तो कितनी बड़ी समस्या हमारे सामने खड़ी हो जाएगी। डाॅक्टर और नर्स दो-तरफा मार झेल रहे हैं। एक तरफ, वे अपनी जान दांव पर लगा कर कोरोना के मरीजों का इलाज कर रहे हैं। वह उनके बीच रह कर हमारे ही घर के लोगों का इलाज कर रहे हैं। हमारे दोस्तों और रिश्तेदारों का इलाज कर रहे हैं, इससे उन्हें कोरोना हो सकता है। एक तरफ उन्होंने अपनी जान दांव पर लगा रखी है और दूसरी तरफ, जब वे समाज के बीच आते हैं, तो उनकी पीठ थपथपाने, उन्हें शाबाशी देने और शुक्रिया देने की बजाय हम उनके साथ इस तरह की हरकत करते हैं। हमारे समाज को क्या हो गया है?
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एलजी अनिल बैजल के साथ उन्होंने बैठक की है। बैठक में दिल्ली के कमिश्नर समेत वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे। जिसमें तय किया गया है कि ऐसी किसी भी हरकत को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। मुझे खुशी है कि जिन लोगों ने दोनों डाॅक्टरों के साथ दुव्र्यवहार किया था, उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है। आज पुनः मैं कड़ी चेतावनी देता हूं कि किसी भी डाॅक्टर के साथ कोई भी दुव्र्यवहार करता है, तो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और ऐसे लोगों को सख्त से सख्त सजा दिलवाई जाएगी। जो इतनी कठिन परिस्थितियों के अंदर भी इतनी गंदी हरकत करते हैं।

घर से बाहर निकलने के दौरान सभी को मास्क पहनना अनिवार्य- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कल हम लोगों ने दिल्ली में आदेश दिए हैं कि जब भी कोई व्यक्ति घर से बाहर निकलेगा या किसी मीटिंग में जाएगा, तो उसे मास्क पहनना जरूरी है। आप को याद होगा कि तीन-चार हफ्ता पहले, जब पूरी दुनिया में कोरोना नया-नया आया था। उस दौरान बार-बार कहा जाता था कि जिसको कोरोना हुआ है, उसे ही मास्क पहनने की जरूरत है, लेकिन अब यह विचार बदला है और कई देशों से यह सुनने को मिल रहा है कि यदि सभी लोग मास्क पहनने लगें, तोे कोरोना का फैलना काफी हद तक रोका जा सकता है। दूसरे देशों से सीख कर दिल्ली सरकार ने आदेश जारी किया है कि घर से निकलने के बाद हर व्यक्ति को मास्क पहनना जरूरी है। मास्क बाजार से खरीदने की जरूरत नहीं है। आप धुला हुआ कपड़ा या रूमाल को भी मास्क में इस्तेमाल कर सकते हैं। उससे नाक और मुंह दोनों ढंग जाएंगे, तो कोरोना के वायरस आपके शरीर के अंदर नहीं आएंगे। इससे छींक या खांस कर आप दूसरों को संक्रमित नहीं करेंगे और आप भी इससे बच जाएंगे।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं समझ रहा हूं कि लाॅक डाउन के दौरान सभी लोगों को बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है, लेकिन यह सब आपकी जिंदगी बचाने के लिए ही है। पिछले 24 घंटे में अमेरिका के अंदर 2 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। भारत के अंदर उस स्तर पर कोरोना फैल जाएगा, तो क्या हालत होगी? हमें इसको किसी भी तरह से रोकना है। इसलिए मास्क पहन कर जरूर निकलें।

लाॅक डाउन के चलते सरकार को टैक्स आना लगभग बंद, हमें और कटौती करनी पड़ेगी- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार ने कल एक और आदेश पारित किया है। लाॅक डाउन की वजह से कोई भी गतिविधि नहीं चल रही है। न किसी की दुकान चल रही है, न किसी की फैक्ट्री चल रही है और न कोई नौकरी कर पा रहा है। इसलिए सरकार को टैक्स आना लगभग बंद हो गया है। इसलिए सरकार को महीने-दो महीने के बाद सैलरी देने के लिए पैसे कहां से आएंगे। हमें बहुत ज्यादा कटौती करनी पड़ेगी। इसलिए दिल्ली सरकार ने फैसला लिया है कि अब सिर्फ सैलरी और कोरोना से संबंधित जैसे फ्री राशन बांट रहे हैं और फ्री खाना खिला रहे हैं, इन सब के अलावा कोई और खर्चा नहीं किया जाएगा। आगे हमें और भी कटौती करेंगे, लेकिन इस कठिन परिस्थिति में हम सभी लोगों को कुर्बानी करनी पड़ेगी।

राशन वितरण में आ रही दिक्कतों को दूर कर देंगे, थोड़ा धैर्य रखने की जरूरत- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमने बताया था कि 71 लाख लोगों को राशन दे रहे हैं। जिन लोगों के पास राशन कार्ड नहीं था, अब उन लोगों को भी राशन देना शुरू कर दिया है। इसकी पूरी व्यवस्था अचानक बनानी पड़ी है। इसलिए थोड़ी फ्रील्ड में थोड़ी परेशानी आ रही है, क्योंकि स्कूल में राशन बांट रहे हैं। स्कूल के शिक्षक और प्रधानाचार्य राशन का वितरण कर रहे हैं। मैं सभी स्कूल के शिक्षक और प्रधानाचार्य को धन्यवाद देना चाहता हूं। उनका यह काम नहीं था, लेकिन वे लोग यह काम कर रहे हैं। इसमें अभी कई दिक्कतें आ रही हैं और दो-चार दिन में सभी दिक्कतें ठीक हो जाएंगी। सभी लोगों को थोड़ा सब्र करना होगा। आज नहीं तो कल या परसो राशन मिल जाएगा। यह मैं विश्वास दिलाता हूं कि सभी लोगों को राशन मिलेगा, आप लोग बिल्कुल चिंता न करें।

हम नहीं चाहते, दिल्ली में किसी भी हालत में कोरोना फैले, इसलिए कड़े कदम उठा रहे- अरविंद केजरीवाल

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि शिल्ड के ‘डी’ अक्षर का मतल डोर-टू- डोर चेकिंग है। एक-एक घर के अंदर जाकर यह पूछा जाता है कि आपके घर में कोई बीमार तो नहीं है। किसी को खांसी, बुखार, सांस लेने में या शरीर में कोई दिक्कत तो नहीं है। एक-एक घर के अंदर जाकर पता करने की कोशिश की जाती है कि किसी को कोरोना के लक्षण तो नहीं है। जिन लोगों में कोरोना के लक्षण मिलते हैं, उन लोगों को आइसोलेट कर, उनके सैंपल लेकर जांच की जाती है। इस दौरान हम यह छह चीजें करते हैं। जिन एरिया के अंदर पता चल जाए कि वहां पर कोरोना के मरीज है, उस एरिया के अंदर आॅपरेशन शिल्ड लागू किया जाता है। दिल्ली में अभी 21 इलाकों को शिल्ड किया गया है। हम नहीं चाहते हैं कि किसी भी स्थिति दिल्ली में किसी भी हालत में कोरोना फैले। इसलिए हम कड़े कदम उठा रहे हैं। मैं पूरी उम्मीद करता हूं कि आप सभी यह समझेंगे कि हमने यह कदम क्यों उठाए हैं और हमारा साथ देंगे। आपको कोरोना से बचना है तो केवल आप खुद को बचा सकते हैं, आपको कोई और नहीं बचा सकता है। जितना आप घर के अंदर रहेंगे, जितना अपने परिवार को बचा कर रखेंगे, मास्क पहनेंगे, सामाजिक दूरी रखेंगे, उतना ही खुद को, अपने समाज को और अपने देश को बचा कर रखेंगे।