Delhi government starts disinfection drive with hi-tech Japanese Machines to stop the spread of COVID-19


  • Delhi govt holds pilot disinfection drive at Rajinder Nagar assembly
  • These Japanese hi-tech machines will be used for sanitization in red & orange zones in the city: Raghav Chadha
  • These machines are specifically built to spray disinfectants and flexible enough to be used in narrow lanes: Raghav Chadha

The Delhi government from Monday started sanitisation and disinfection drives in the containment zones created across the city to prevent the spread of coronavirus and high-risk zones ascertained by the health department, for which the Delhi government has availed machines that can disinfect up to 20,000 square metre area per hour. On Monday the Delhi government ran a pilot disinfection drive at the Rajinder Nagar assembly constituency.

“Hon’ble Chief Minister Shri Arvind Kejriwal yesterday announced that in a bid to tackle the COVID-19 outbreak through hi-tech Japanese technology the Delhi government will run disinfection drive at the red and orange zones of the capital. This is the first time in India such technology is being used to tackle the COVID-19 pandemic. To tackle the coronavirus outbreak the Delhi government has marked various containment zones and divided them into red and orange zones. The disinfection drive will start at the red and orange zones. This Japanese technology is very unique and it is made specifically to spray disinfectants. This technology is also very flexible as its length is adjustable, therefore, it can easily enter narrow lanes along with the broader areas,” said Rajinder Nagar MLA Mr Raghav Chadha.

He added the farmers use these machines to spray disinfectants at the farmlands, therefore, these are specifically equipped for disinfection and sanitization works. The chemical composition used for the disinfection drive as per the guidelines of WHO. These machines spray the disinfectants in a way that can kill the germs and virus at any solid surface.

“The key target of the Delhi government is to focus on the containment zones, therefore, the disinfection drive will start with the red zones. At Rajinder Nagar Vidhan Sabha we have started a pilot project with three such machines in presence of the experts to analyse the performance and results thereof. We have sanitised the whole area and studied all the necessary parameters. After a careful consultation with the experts, it has been decided that this is a fully equipped technology, and the disinfection drive should immediately start at the containment zones,” said Mr Chadha.

Mr Chadha Tweeted, “Did a pilot with hi-tech Japanese spray machines equipped with ability to disinfect & sanitize large areas upto 20,000 sq mtrs an hour, under the “Mukhyamantri Delhi Sanitization Drive. Rajinder Nagar Constituency sanitized by these machines using micro atomized disinfectant.”

Yesterday while addressing a press conference Delhi CM Mr Kejriwal said, ” PI Industries (an agriculture sciences company) have provided us with 20 Japanese hi-tech machines that are capable of disinfecting 20,000 square metres area in an hour. The machines were provided for free. Other than that, the Delhi Jal Board has 50 smaller machines which will be deployed in the disinfection drive.”


दिल्ली सरकार ने जापानी मशीनों से रेड व ऑरेंज जोन में शुरू किया सैनिटाइजेशन अभियान

  • दिल्ली के राजेंद्र नगर विधानसभा से हुई शुरूआत, तीन जापानी मशीनों से पूरी एरिया को किया गया सैनिटाइज- राघव चड्ढा
  • दिल्ली सरकार रेड जोन को पहले देगी प्राथमिकता, इसके बाद आॅरेंज जोन को किया जाएगा सैनिटाइज- राघव चड्ढा
  • जापानी मशीनों से केमिकल का छिड़काव करने पर कीटाणु और वायरस का पूरी तरह से हो जाता है खात्मा, चौड़ी और तंग गलियों में जा सकती हैं यह मशीनें- राघव चड्ढा

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की सरकार ने दिल्ली को कोरोना वायरस से मुक्त करने के लिए सोमवार को चिन्हित रेड और ऑरेंज जोन में सैनिटाइजेशन का महा अभियान शुरू कर दिया। सैनिटाइजेशन अभियान की शुरूआत राजेंद्र नगर विधानसभा से की गई। पहले दिन अभियान का नेतृत्व राजेंद्र नगर विधानसभा से आम आदमी पार्टी के विधायक व दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने की। पायलट प्रोजेक्ट के तहत तीन जापानी मशीनों की मदद से राजेंद्र नगर विधानसभा को पूरी तरह से सैनिटाइज किया गया। डीजेबी के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने कहा कि विशेषज्ञों ने पायलट प्रोजेक्ट के तहत जापानी मशीनों से किए गए सैनिटाइजेशन का आंकलन किया है। जिसमें यह मशीनें काफी उपयुक्त पाई गई हैं। इन मशीनों से सैनिटाइजेशन करने के बाद कीटाणु और वायरस का पूरी तरह से खात्मा हो जा रहा है। लिहाजा, पूरी दिल्ली में इन मशीनों को सैनिटाइजेशन के लिए उतारने का फैसला किया गया है।

दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने बताया कि अरविंद केजरीवाल जी की सरकार ने कल बड़े पैमान पर दिल्ली में सैनिटाइजेशन अभियान शुरू करने की घोषणा की थी। इसके तहत पूरी दिल्ली में जापानी तकनीक वाली मशीनें सैनिटाइजेशन करने के लिए इस्तेमाल की जा रही हैं। खासकर रेड और आॅरेंज जोन, यानि वे इलाके, जिन्हें कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है, जो हाॅट स्पाॅट बनाए गए हैं, जहां संक्रमण फैल रहा है या संक्रमण फैलने की आशंका है। उन इलाकों में इन जापानी मशीनों को उतार कर सैनिटाइजेशन किया जाएगा। पूरी एरिया को कीटाणु और वायरस मुक्त किया जाएगा। यह बहुत ही आधुनिक मशीनें हैं। इनके पंख काफी बड़े-बड़े हैं। यह विशेष तरह की मशीन हैं, जो केमिकल स्प्रे के लिए ही इस्तेमाल की जाती हैं। जब इनके पंख खुलते हैं, तो यह बड़ी हो जाती हैं और पंख बंद होते हैं, तो यह छोटी हो जाती हैं। इसलिए यह चैड़ी गलियां के साथ तंग गलियों में भी प्रवेश कर जाती हैं। हमारा यही प्रयास है कि इस आधुनिक मशीनों से दिल्ली के रेड और आॅरेंज जोन के अंदर कीटाणु व वायरस का पूरी तरह से खात्मा कर सकें।

देश में पहली बार एकमात्र दिल्ली सरकार है, जो सैनिटाइजेशन के लिए जापानी मशीनों का इस्तेमाल कर रही – राघव चड्ढा

राघव चड्ढा ने कहा कि मुझे लगता है कि पूरे देश में पहली बार मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी की सरकार इस तरह का प्रयोग कर रही है। आज से पहले कभी इस तरह की मशीनों का प्रयोग सैनिटाइजेशन में नहीं देखा गया है। यह मशीनें खाद या केमिकल का छिड़काव करने में इस्तेमाल की जाती हैं। इसीलिए सैनिटाइजेशन के लिए पूरी तरह से उपयुक्त हैं। यह मशीनें डब्ल्यूएचओ के मानदंडों के मुताबिक ही केमिकल के मिश्रण को उस हिसाब से छिड़काव करती हैं कि सड़क से पूरी तरह से कीटाणु व वायरस का खात्मा हो जाता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार की सबसे पहली प्राथमिकता रेड जोन है। यह वे इलाके हैं, जिन्हें दिल्ली सरकार ने कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है, जिन्हें हाॅट स्पाॅट बना दिया है। इन मशीनों से उन इलाकों को सबसे पहले सैनिटाइज किया जाएगा। अभी हम इन मशीनों का पायलट प्रोजेक्ट के तहत अभ्यास किए हैं। तीन मशीनों की मदद से राजेंद्र नगर विधानसभा को पूरी तरह से सैनिटाइज किया गया है। इसका पायलट प्रोजेक्ट करके देख गया है कि किस तरह से यह मशीनों प्रभावशाली हैं। कितने वायरस व कीटाणुओं को मार पा रही है और इसके इस्तेमाल से कहीं कोई नुकसान तो नहीं हो रहा है। विशेषज्ञों के साथ इसका आंकलन करने के बाद हम इस फैसले पर पहुंचे हैं कि इन मशीनों को जल्द से जल्द सभी रेड और आॅरेंज जोन में उतार देना चाहिए।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना वायरस के खात्मे के मद्देनजर रविवार को चिंहित रेड और आॅरेंज जोन में बड़े पैमाने पर सैनिटाइजेशन अभियान की शुरूआत करने की घोषणा की थी। जिस एरिया को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है, उन्हें रेड जोन माना गया है और जिस एरिया को हाई रिस्क जोन घोषित किया गया है, उन्हें आॅरेंज जोन माना गया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि सैनिटाइजेशन के लिए पीआई इंडस्ट्रीज ने दिल्ली सरकार को 10 हाईटेक जापानी मशीनें दी हैं। एक मशीन एक घंटे में 20 हजार वर्ग मीटर को सैनिटाइज करती है। इसके अलावा दिल्ली जल बोर्ड की 50 मशीनें भी सैनिटाइजेशन में इस्तेमाल की जाएंगी। कुल 60 मशीनों की मदद से दिल्ली के रेड और आॅरेंज जोन में बड़े पैमाने पर सैनिटाइजेशन अभियान की शुरूआत की गई है।